The Nature of Philanthropists

tulsidas-hindi-status

फल के आने से वृक्ष झुक जाते हैं,
वर्षा के समय बादल झुक जाते हैं,
संपत्ति के समय सज्जन भी नम्र होते हैं,
परोपकारियों का स्वभाव ही ऐसा है।
                                  ~ तुलसीदास


Post Comment

19 − twelve =

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)