Latest Hindi Status

Wrong Advice

किसी को गलत मार्ग पर ले जाने वाली सलाह मत दो ।                      ~ पं. श्रीराम शर्मा आचार्य
If We’re Really Quiet

कोई भी कठिनाई क्यों न हो, अगर हम सचमुच शान्त रहें तो समाधान मिल जाएगा ।           ~ पं. श्रीराम शर्मा आचार्य
The Experience of This Moment is Life

जीवन ना तो भविष्य में है और ना ही अतीत में है जीवन तो केवल इस पल में है इसी पल का अनुभव ही जीवन है !                          …
Internal Poverty

आन्तरिक दरिद्रता ही बाहर की दरिद्रता बनकर प्रकट होती रहती है ।                                      ~ पं. श्रीराम शर्मा आचार्य
Be True to Yourself

अपने प्रति सच्चे रहो और फिर दुनिया में किसी चीज की परवाह न करो।                        ~ रामतीर्थ
If a Problem Can be Resolved

यदि किसी समस्या को सुलझाया जा सकता है, तो फिर चिन्ता करने की क्या जरूरत है ? और यदि नही सुलझाया जा सकता तो फिर चिन्ता करना से क्या फायदा है !
If You Want Peace

अगर शांति चाहते हैं तो लोकप्रियता से बचिए !                     ~ अब्राहम लिंकन
Slave of Mind

जो मन का गुलाम है, वह ईश्वर भक्त नहीं हो सकता ।                ~ पं. श्रीराम शर्मा आचार्य
The Person Wakes up From Its Talents

व्यक्ति अपने गुणों से ऊपर उठता है ऊँचे स्थान पर बैठने से ऊँचा नहीं हो जाता है ।                                ~ आचार्य चाणक्य
Possibility of Having a Dream Come True

सपने के सच होने की सम्भावना ही आपके जीवन को रोचक बनाती है ।                              ~ पाओलो कोएलो
Efforts Like Karmayogi

ज्ञानयोगी की तरह सोचें, कर्मयोगी की तरह पुरुषार्थ करें,  और भक्तियोगी की तरह सहृदयता उभारें।           ~ पं. श्रीराम शर्मा आचार्य
If You Have an Enemy

यदि आपके सौ मित्र भी हैं तो भी कम हैं उन्हें निरंतर और बढ़ाओ। यदि आपका एक शत्रु है, तो बहुत ज्यादा है उसे और घटाओ।           ~ सिडनी
Think Before Working

अक्लमंद काम करने से पहले सोचते हैं और मूर्ख काम करने के बाद।                                        ~ महात्मा गांधी
Should Not Be Disappointed

दूसरों की अपेक्षा आपको सफलता यदि देर से मिले तो निराश नहीं होने चाहिये। यह सोचिये की मकान बनने से ज्यादा समय महल बनने में लगता है।
Voice of Ethics

नैतिकता की आवाज को तर्क, बुद्धि और चातुर्य शांत नहीं कर पाते। नैतिकता भी चेतना का ही अंग है, जो किसी कृत्रिम प्रयत्न का परिणाम नहीं, वरना जीवात्मा के लम्बे समय के संस्कार, अभ्यास और सृष्टि में काम कर रहे…